Home Health टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा | Timing Badhane ki Ayurvedic Desi...

टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा | Timing Badhane ki Ayurvedic Desi Dawa

0
46

टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा: आयुर्वेद चिकित्सा में सहवास में समय बढ़ाने एवं दुर्बलताओं को दूर करने के लिए विभिन्न देसी दवा उपलब्ध है | देसी घरेलु उपाय द्वारा टाइमिंग बढाया जा सकता है | यहाँ हम आपको टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा एवं घरेलु उपायों के बारे में बताएँगे |

आयुर्वेद में काम आने वाली शास्त्रोक्त एवं अन्य फार्मूलेशन की प्रमुख एवं प्रभावी 5 देसी दवाओं के बारे में आपको इस लेख में जानकारी उपलब्ध होगी | साथ ही घरेलु देसी उपाय एवं आयुर्वेदिक पुरातन फार्मूलेशन के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी देंगे | इन देसी दवाओं का इस्तेमाल वैद्य सलाह से करना चाहिए, क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति की प्रकृति एवं रोग की स्थिति अलग होती है

पुरातन समय से ही सेक्स पॉवर बढ़ाने के लिए आयुर्वेद का सहारा लिया जाता रहा है | आयुर्वेद एवं आयुर्वेद के देसी नुस्खे टाइमिंग बढ़ाने के लिए एक अच्छा विकल्प है | अगर बात करें मॉडर्न मेडिसिन की तो सेक्स पॉवर बढ़ाने या टाइमिंग बढ़ाने के लिए दवाएं तो काफी है लेकिन इन दवाओं के साइड इफ़ेक्ट इतने है कि इन्हें लेने से पहले सोचना अत्यंत आवश्यक है |

अत: आयुर्वेद एवं घरेलु उपायों के द्वारा आसानी से टाइमिंग बढ़ाई जा सकती है | तो चलिए जानते है सबसे पहले सेक्स पॉवर बढ़ाने की आयुर्वेदिक शास्त्रोक्त दवाओं के बारे में

टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा | Ayurvedic Desi Dawa for Increasing Time

1. वृहनी गुटिका टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा: टाइमिंग बढ़ाने के लिए वृहनी गुटिका से बेहतरीन विकल्प कुछ हो नहीं सकता | यह आयुर्वेद की शास्त्रोक्त औषधि में गिनी जाती है | इसमें लगभग 40 प्रकार की देशी जड़ी – बूटियों का समावेश है | ये सभी जड़ी – बूटियां बहुत ही कारगर होती है | इसमें विदारीकन्द का स्वरस, जीवन्ति, मेदा, महामेदा, ऋषभक, द्राक्षा, आमलकी, फलगू, पिप्पली, अश्वगंधा जैसी जड़ी – बूटियां होती है | इस दवा का प्रयोग वैद्य सलाह से टाइमिंग बढ़ाने के लिए देसी दवा के रूप में किया जाता है |

2. कामसुधा योग: यह दवा भी लगभग 20 प्रकार की बहुत ही प्रभावी जड़ी – बूटियों से निर्मित होती है | इसमें समुद्रशोष, मकरध्वज, तालमखाना, कालीमुसली जैसी पावरफुल जड़ी – बूटियां सम्मिलित होती है जो सेक्स पॉवर को बढ़ाने एवं नपुंसकता जैसे रोगों में प्रभावी रूप से कार्य करती है | टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा के रूप में इस दवा का प्रयोग भी वैद्य प्रमुखता से करते है |

3. वृष्य गुटिका: यह टाइमिंग बढ़ाने की दवा भी आयुर्वेद की शास्त्रोक्त दवा है | इस देसी दवा में वंशलोचन, शहद, पिप्पली एवं कप्पिकच्छु जैसे औषध द्रव्य है जो सहवास में समय बढ़ाने के लिए प्रमुखता से देखे जाते है | लम्बे समय तक रही यौनदुर्बलता के कारण कम हुई सेक्स पॉवर को बढ़ाने के लिए इस दवा का प्रयोग वाजीकरण चिकित्सा में किया जाता है |

4. वाजीकरण घृतं: यह औषधि भी टाइमिंग बढ़ाने में बहुत उपयोगी है | वाजीकरण चिकित्सा में शरिर शोधन के पश्चात वैद्य लोग वाजीकरण घृतं का सेवन बताते है जिससे कमजोर हुई सेक्स पॉवर फिर से लौट सके | इस आयुर्वेदिक घी का निर्माण शतावरी, मेदा, मधुयष्टि, अश्वगंधा, दूध एवं गाय के घी से किया जाता है | इस टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा का प्रयोग वैद्य सलाह से पंचकर्म करवाने के बाद निर्देशित मात्रा एवं औषध योगों के साथ किया जाता है | जिससे यौन शक्ति की बढ़ोतरी हो |

5. मेदादी योग: कामसुधा योग की तरह ही यह आयुर्वेदिक दवा भी टाइमिंग बढ़ाने में बहुत ही प्रभावी है | इसमें जीवन्ति, कंटकारी, गोखरू, उड़द, शालीषष्टिक चावल जैसे घटक द्रव्य है जो इसे टाइमिंग बढ़ाने एवं शीघ्रपतन को खत्म करने में कारगर बनाते है | मेदादी योग शायद किसी भी फार्मेसी द्वारा निर्मित नहीं किया जाता है | इसका निर्माण कुछ – कुछ वैद्य अपने स्तर पर ही करते है | अत: शास्त्रोक्त बनी हुई दवा का ही सेवन करना चाहिए |

इनके अलावा टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा के रूप में कई औषधियों का निर्माण पतंजलि, बैद्यनाथ आदि फार्मेसी द्वारा भी किया जाता है | लेकिन हमने यहाँ पर सिर्फ शास्त्रोक्त एवं प्रभावी देसी दवाओं के बारे में बताया है |

जड़ी – बूटियां है टाइमिंग बढ़ाने में उपयोगी | Ayurvedic Herbs for Increasing timing

टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा के रूप में आयुर्वेदिक जड़ी – बूटियां भी अच्छा कार्य करती है | अगर इन जड़ी – बूटियों का सेवन उचित मात्रा में किया जाये तो कुछ हद तक टाइमिंग बढ़ाने में मदद मिलती है | यहाँ हमने सेक्स पॉवर बढ़ाने एवं टाइमिंग बूस्ट करने में उपयोग होने वाली आयुर्वेद की प्रमुख जड़ी – बूटियों के बारे में बताया है |

कौंच से बढती है टाइमिंग: कौंच, कपिकछु या केवाच इसे काफी नामों से जाना जाता है | यह औषधीय वनस्पति भारत में जंगलों में पाई जाती है | इसके पौधे, उत्तराखंड, झारखण्ड एवं MP जैसे मैदानी प्रदेशों में अधिक देखने को मिलते है | कौंच के बीजों की तासीर गरम होती है | इन बीजों को शुद्ध करके औषध उपयोग में लिया जाता है | अगर आपकी टाइमिंग कम है तो कौंच के बीजों के साथ शीतल प्रकृति की जड़ी – बूटियों को मिलाकर दूध के साथ सेवन किया जा सकता है |

अश्वगंधा है टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा: अश्वगंधा बहू उपयोगी आयुर्वेदिक जड़ी – बूटी है | इसका प्रयोग विभिन्न रोगों के उपचार में बहुत ही बड़े स्तर पर आयुर्वेद में प्रयोग किया जाता है | इस जड़ी – बूटी के सेवन से तनाव एवं एन्जायती दूर होती है | जिससे सेक्स पॉवर बढ़ता है | अगर आप तनाव लेते है तो ध्यान दें आपका सहवास का समय भी कम होगा | अत: शरिर में ताकत देने एवं तनाव को दूर करने के लिए अश्वगंधा बहुत ही फायदेमंद है |

शतावरी: शतावरी को शतमूली एवं महाशीता आदि नामों से भी जाना जाता है | अगर आप टाइमिंग बढ़ाने के लिए शतावरी का उपयोग करना चाहते है तो दूध में शतावरी को पकाकर नित्य रात्रि में खाने से बल एवं वीर्य की वृद्धि होती है | यह प्रयोग आपके टाइमिंग बढ़ाने की देशी दवा के रूप में काम करता है |

तालमखाना: इस औषधीय जड़ी – बूटी का प्रयोग सर्वाधिक यौन दुर्बलताओं में किया जाता है | इसे कोकिलाक्ष नाम से भी जानते है | टाइमिंग बढ़ाने के लिए तालमखाना के साथ अश्वगंधा, कौंच एवं शतावरी का चूर्ण समान मात्रा में मिलाकर सेवन किया जा सकता है | यह प्रयोग पुरुषों में सेक्स पॉवर बढ़ाने में मदद करता है | लम्बे समय तक आई शारीरिक कमजोरी के कारण भी टाइमिंग कम हो जाता है एसे में यह प्रयोग शारीरिक क्षमता को बढाकर बहुत ही उपयोगी साबित होता है |

सफ़ेद मुसली: इसे बेहतरीन वीर्य वर्द्धक जड़ी बूटी माना जाता है | सफ़ेद मुसली में वीर्य को बढ़ाने एवं गाढ़ा करने के गुण होते है | अत: अगर आपकी सहवास में टाइमिंग खराब है तो निश्चित रूप से सफ़ेद मुसली इसमें फायदेमंद होगी | सफ़ेद मुसली के बारीक़ चूर्ण को गाय के एक गिलास दूध के साथ नित्य रात्रि में सेवन करने से बहुत लाभ मिलता है | व्यक्ति इसके सेवन अपनी Sex Power को बढ़ा सकता है |

शिलाजीत: यह पहाड़ों से प्राप्त होने वाली औषधि है | शिलाजीत हिमालय के पहाड़ों पर मिलती है जिसका शोद्धन करके उपयोग किया जाता है | बाजार में शिलाजीत नाम से बहुत से नकली पदार्थ भरे पड़ें है | शिलाजीत उत्तम बलकारक, टाइमिंग बढ़ाने वाला, यौन दुर्बलता दूर करने वाला एवं हृदय को बल देने वाला रसायन है | इसका प्रयोग वैद्य सलाह अनुसार टाइमिंग बढ़ाने के लिए किया जा सकता है |

ईरानी अकरकरा से बढ़ाएं टाइमिंग: अकरकरा आयुर्वेदिक जड़ी बूटी का इस्तेमाल भी यौन दुर्बलता एवं सेक्स पॉवर बढ़ाने के लिए प्रमुखता से होता है | लेकिन इस औषधि के सभी गुणों एवं अवगुणों से परिचय कम है अत: टाइमिंग बढ़ाने के लिए उपयोग करने से पहले वैद्य निर्देश जरुर लेने चाहिए | हालाँकि ईरानी अकरकरा बहुत महँगी जड़ी बूटी है लेकिन टाइमिंग बढ़ाने में यह उतनी ही असरकारक भी है | इस औषधि के उपयोग से पहले वैद्य सलाह अवश्य लेनी चाहिए |

टाइमिंग बढ़ाने के घरेलु उपाय एवं आयुर्वेदिक योग | Ayurvedic Yog for Increasing Timing

  • अकरकरा लेप: सहवास में टाइमिंग बढ़ाने के लिए अकरकरा का लेप बना कर देसी योग की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है | इसे बनाने के लिए अकरकरा का महीन चूर्ण करके धतूरे के रस में मिलाकर इसका लेप तैयार कर लिया जाता है | सहवास से 1 घंटे पहले इस लेप को उपरी हिस्से को छोड़कर निचे नित्य 7 दिन लगाने से टाइमिंग बढ़ जाता है |
  • अश्वगंधा लेप: अश्वगंधा का महीन चूर्ण करके इसे चमेली के तेल में मिलाकर इसका लेप तैयार कर लें | इस लेप को भी सहवास से पहले लगाने से बहुत फायदा मिलता है | सहवास के समय इसे धो लेना चाहिए |
  • कपूर, कच्चा सुहागा एवं अकरकरा से बढ़ाये टाइमिंग : कपूर, कच्चा सुहागा एवं अकरकरा को महीन पीसकर इसका लेप बना ले | लेप बनाने के लिए शहद को इसमें मिला लेना चाहिए | शहद मिले हुए लेप को सैक्स से पहले लिंग पर मसाज करने से टाइमिंग बढती है |
  • चमेली का तेल: टाइमिंग बढ़ाने के लिए चमेली का तेल भी बहुत उपयोगी है | चमेली का असली तेल अगर उपलब्ध हो तो इस तेल की मालिश नियमित करने से सहवास में समय की बढ़ोतरी के लिए उत्तरदाई होती है |

धन्यवाद |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here